The Free Dictionary  
mailing list For webmasters
Welcome Guest Forum Search | Active Topics | Members

पहेली Options
Gunjika
Posted: Friday, March 11, 2011 10:22:17 AM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
आना भी ख़राब, जाना भी ख़राब
बोलो क्या?
ludic
Posted: Friday, March 11, 2011 10:41:47 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 12/7/2010
Posts: 1,153
Neurons: 3,544
Location: New Delhi, NCT, India
प्रेम रोग Whistle

Anxious

Silenced
Gunjika
Posted: Friday, March 11, 2011 10:52:39 AM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
Naaaaaahh! Kya jawab diya hai chhant kar! wassup???!!
noorfr
Posted: Friday, March 11, 2011 1:43:51 PM

Rank: Advanced Member

Joined: 1/11/2011
Posts: 196
Neurons: 4,341
Location: New Delhi, NCT, India
बकरी
Gunjika
Posted: Saturday, March 12, 2011 11:36:01 PM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
bakri kaise??? ok hint: prem rog begins from here!
noorfr
Posted: Sunday, March 13, 2011 3:45:34 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 1/11/2011
Posts: 196
Neurons: 4,341
Location: New Delhi, NCT, India
अब क्या जवाब दें गुंजिका जी. मेरी छोटी बहन है यहाँ पर. अभी बच्ची ही है. क्या सोचेगी कि भाई बुढा रहा है और जवानी सूझ रही है. लिहाज़ तो करना ही पड़ता है ना.
ludic
Posted: Sunday, March 13, 2011 3:50:33 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 12/7/2010
Posts: 1,153
Neurons: 3,544
Location: New Delhi, NCT, India
hah!... main koi bachchi nahi hoon, poora school(aaj ke zamane ka!) paar kar chuki hoon, aur 19 ki ho chuki hoon. aur bhaisahab, aap koi 50 saal ke praudh to nahi hi ho sakte! parivaar aur doston mein mazaak to laga hi rehta hai! kyon, chachiji?
srirr
Posted: Monday, March 14, 2011 12:04:12 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 12/29/2009
Posts: 8,434
Neurons: 474,539
आना भी ख़राब, जाना भी ख़राब
इस पहेली का सही उत्तर है : आँख.
वैसे ल्युडिक का उत्त भी विचारणीय हो सकता है. ;) और नूर मियां, आपकी बकरी वाली नीयत के सन्दर्भ में मैं अब क्या कहूं?
Gunjika
Posted: Monday, March 14, 2011 3:11:17 AM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
शाबाश श्री | Dancing Applause Applause

अच्छा बताइए :
एक मुर्गा चश्मदीदम चलते चलते थक गया
लाये चाक़ू काटी गर्दन फिर से चलने लग गया ?
srirr
Posted: Monday, March 14, 2011 3:22:53 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 12/29/2009
Posts: 8,434
Neurons: 474,539
गुन्जिका, बचपन की यादें ताज़ा हो आई, तब हमलोग ऐसे ही पहेली-पहेली खेला करते थे.
पेंसिल के बारे में क्या ख्याल है.

चलो, मैं भी एक पहेली पूछता हूँ.

छोटी मोटी राम दास, कपडा पहने सौ-पचास.
Gunjika
Posted: Monday, March 14, 2011 3:26:41 AM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
प्याज़ ?Think
srirr
Posted: Monday, March 14, 2011 5:47:09 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 12/29/2009
Posts: 8,434
Neurons: 474,539
सही जवाब. इसके लिए गुन्जिका को मिलते हैं १०० ग्राम प्याज़. आज हमलोग प्याज़ के पकौड़े खायेंगे.
Gunjika
Posted: Monday, March 14, 2011 6:09:56 AM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
मुझसे पकौड़े बनवाने के लिए प्याज़ दिए हैं?? Grrrrr....

.....तो थोड़ा और दो, १०० ग्राम से क्या होगा, अब अपनी गिनती भी तो बढ़ गयी है !
ludic
Posted: Monday, March 14, 2011 10:57:13 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 12/7/2010
Posts: 1,153
Neurons: 3,544
Location: New Delhi, NCT, India
Dancing Drool
noorfr
Posted: Monday, March 14, 2011 1:57:37 PM

Rank: Advanced Member

Joined: 1/11/2011
Posts: 196
Neurons: 4,341
Location: New Delhi, NCT, India
srirr wrote:
और नूर मियां, आपकी बकरी वाली नीयत के सन्दर्भ में मैं अब क्या कहूं?

अरे मेरी नियत वियत मत देखो भाई. पहेली वहेली के लिये मेरे पास दिमाग़ बचा है नहीं. और एक मेरा दस साल का बेटा है जो हर समय असमय एक अनोखी सी पहेली या सवाल लिये मेरे सर पर चढ़ा रहता है. उसकी पहेली तो मैं सुनता नहीं, क्योंकि सुनने का कोई फाएदा नहीं है. मैं अगर सही जवाब दे भी दूंगा तो उसे दुःख होता है कि मैं जीत गया. जब उसकी बात पूरी हो जाती है तो मैं उत्तर देता हूँ - चूहा.
फिर वह कहता है कि अच्छा मैं आप को हिन्ट देता हूँ. मेरे लिये हिन्ट सुनना भी बेकार है. वह जो कुछ भी बोले मैं कहता हूँ - वाह. मैं समझ गया, घोड़ा.
फिर एक दो और हिन्टों के बाद वह सही उत्तर बताता है और खुशी खुशी चला जाता है कि वह जीत गया और मैं हार गया.
अब तो इतने दिन गुज़र चुके हैं इस पहेलियों के साथ कि आप कुछ भी पूछ लो, मैं कहूँगा - जिराफ़.


edit: हाँ. सबसे मज़े की बात यह है कि अधिकतर वह वही पहेलियाँ पूछता है जो मैं उसकी उम्र में पूछा करता था. वक्त के साथ यह एक चीज़ है जो ज़रा भी नहीं बदली है.
Gunjika
Posted: Tuesday, March 15, 2011 1:21:44 AM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
ok, अब बताओ,
जाली खाली जल गयी बचा न एको धागा,
घर के मालिक पकड़ लिए घर खिड़की होकर भागा ??

श्रीमान नूर, आप मेरी पहेलियों का सही उत्तर देंगे तो यकीन मानिये मुझे दुःख नहीं होगा बल्कि बेहद ख़ुशी मिलेगी |

Ludic, क्या ये पकौड़े मिलने की सम्भावना की ख़ुशी है??

ये लो virtual पकौड़े (@) (@) (@) (@)
noorfr
Posted: Tuesday, March 15, 2011 2:00:00 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 1/11/2011
Posts: 196
Neurons: 4,341
Location: New Delhi, NCT, India
हम इस को ऐसे पूछते थे -

सारी जाली जल गई, जला न एको धागा | घर का मालिक फँस गया, घर का मालिक भागा ||

सच तो यह है कि सुश्री कुमारी (या श्रीमती) गुंजिका जी कि इन पहेलियों को सहेजना अब ज़रूरी हो गया है. वरना समय के साथ एक दिन यह भी इतिहास का भूला हुआ अध्याय बन जाएँगी. इस लिये मैं समझता हूँ कि यह सूत्र एक बहुत अच्छा प्रयास है, कि मैं जवाब दूँ या न दूँ, पहेलियाँ यहाँ पोस्ट होती रहनी चाहियें. मैं भी पहेलियाँ याद करने की कोशिश करूँगा. जैसे यहाँ सारी पहेलियाँ पढ़ कर याद आ रही हैं कि ये तो हम भी बूझते थे.

पकौड़े तो हम भी खाएंगे मगर हाय रे हमारी किस्मत, क्या दोस्त मिली है जो virtual पकौड़े खिला रही है.
Gunjika
Posted: Saturday, March 19, 2011 2:23:37 AM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
आप जोधपुर आ जाइये, पकौड़ों के साथ हरी चटनी भी मिलेगी, वो भी असली |

अगली पहेली है :
हरि बोले हरि ने सुना, हरि गए हरि के पास ,
हरि मिल गये हरि में, हरि भये बड़े उदास | :P

यहाँ हरि शब्द के ३ अलग अर्थ हैं, बताइए तो !
noorfr
Posted: Saturday, March 19, 2011 3:37:59 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 1/11/2011
Posts: 196
Neurons: 4,341
Location: New Delhi, NCT, India
Gunjika wrote:
आप जोधपुर आ जाइये, पकौड़ों के साथ हरी चटनी भी मिलेगी, वो भी असली |

यह रिस्क मत लो गुंजिका जी. क्या पता कोई पहुँच ही जाए.
सच तो यह है कि पिछले दिनों जब मैं सफ़र पर था तो जोधपुर जाते जाते रह गया. मैं हरिद्वार में था और मेरे एक मित्र को अकेले जोधपुर जाना था. वह चाहता था मैं भी साथ चला चलूँ. मगर मुझे घर से निकले पूरा महीना हो रहा था, इस लिये नहीं गया और दिल्ली होकर वापस भाग आया. अब की बार निकलूं तो क्या पता जोधपुर पहुँच ही जाऊं.


Gunjika wrote:
अगली पहेली है :
हरि बोले हरि ने सुना, हरि गए हरि के पास ,
हरि मिल गये हरि में, हरि भये बड़े उदास | :P

यहाँ हरि शब्द के ३ अलग अर्थ हैं, बताइए तो !

हरि के तीन अर्थ??? हरि मतलब इंसान, हरि मतलब भगवान. और हरि मतलब हरा, हरि मतलब पीला, और दोनों में लाल मिल कर हरि मतलब भूरा भी. और हरि यानि कि सूरज या चाँद, या आग, या हवा, या शेर, या घोड़ा, और कोयल, और तोता, और मेंढक, और मोर, और सांप, और बन्दर, और भी न जाने क्या क्या क्या.... और यहाँ हम गाँव में गाय भी हरी कराते हैं. अब कौन से तीन अर्थ यहाँ फ़िट करें.Think छोड़ो यार. यहाँ बड़े बड़े बैठे हैं अर्थ का अनर्थ करने वाले. वही समझेंगे.
Gunjika
Posted: Thursday, March 24, 2011 1:27:54 AM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
हरि (मेंढक) बोले हरि ( सांप) ने सुना, हरि ( सांप) गए हरि(मेंढक) के पास (उसे खाने के लिए ),
हरि (मेंढक) मिल गये हरि (पानी) में, हरि ( सांप) भये बड़े उदास |


HahahahaDancing
srirr
Posted: Thursday, March 24, 2011 1:48:34 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 12/29/2009
Posts: 8,434
Neurons: 474,539
फिर से बचपन की याद हो आई. अलंकार की कक्षा में ये सब खूब पढ़ा था. ऐसा ही एक और पद है:

सारंग नयनी, सारंग बयनी, ले चली सारंग सारंग को
जब सारंग सारंग भेंट भई, पुचकारत सारंग सारंग को
.
Gunjika
Posted: Thursday, March 24, 2011 3:22:33 AM
Rank: Advanced Member

Joined: 1/10/2011
Posts: 376
Neurons: 1,127
Location: India
आंशिक रूप से इसका अर्थ समझ में आ रहा है, बाकी आप बता दीजिये:
सारंग नयनी (मृग नयनी ), सारंग बयनी (कोयल सा बोलने वाली ), ले चली सारंग (धाम ) सारंग को
जब सारंग सारंग भेंट भई, पुचकारत सारंग सारंग को.
noorfr
Posted: Thursday, March 24, 2011 10:19:04 AM

Rank: Advanced Member

Joined: 1/11/2011
Posts: 196
Neurons: 4,341
Location: New Delhi, NCT, India
फिर नाहीं पता. मैं तो इस जगह पूरी तरह से फ़ेल हूँ. यहाँ अकल लगनी पड़ती है, और वह अपने पास है नहीं. सारंग के भी दस से ज़्यादा अर्थ तो होंगे ही. मैं तो हरि वाली पहेली में ही ढेर हो गया था. समझ ही नहीं आ रहा कि कौन सा सारंग किस दूसरे सारंग को पुचकार सकता है....
Vicky Donnar
Posted: Tuesday, January 22, 2019 5:30:00 AM

Rank: Newbie

Joined: 1/22/2019
Posts: 1
Neurons: 3
सारंग नयनी(हिरण सी आंख वाली)
सारंग बयनी(नागिन जैसी चोटी वाली)
सारंग(लड़की)
सारंग(दीपक)
सारंग (हवा)
Islami
Posted: Monday, February 3, 2020 11:53:26 PM
Rank: Advanced Member

Joined: 7/21/2017
Posts: 181
Neurons: 1,057
वृक्ष परे रहूं मगर पक्षी नहीं, तीन आंखें हैं मेरी पर शंकर नहीं,

छाल के वस्त्र पहनूं पर योगी नहीं, जल से हूं परिपूर्ण मगर मटका नहीं
Users browsing this topic
Guest


Forum Jump
You cannot post new topics in this forum.
You cannot reply to topics in this forum.
You cannot delete your posts in this forum.
You cannot edit your posts in this forum.
You cannot create polls in this forum.
You cannot vote in polls in this forum.